पार्टनर की तलाश कर रहे हैं तो रुक जाइए, सिंगल लाइफ के अपने अलग मजे हैं, देखें कैसे

हर व्यक्ति जवान होते ही शादी कर सेटल होना चाहता है। वहीं कुछ गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड बनाने में लग जाते हैं। जिन्हें कोई पार्टनर नहीं मिलता वे दुखी हो जाते हैं। जो पहले से रिलेशनशिप में हैं वो कई बार सोचते हैं कि यार इससे तो सिंगल लाइफ ही सही थी। वैसे वे काफी हद तक सही भी सोचते हैं। सिंगल लाइफ के अपने अलग मजे हैं।

यदि आप रिलेशनशिप में जाने का सोच रहे हैं, या सिंगल लाइफ से दुखी हैं तो थोड़ा ठहर जाइए। आज हम आपको सिंगल लाइफ के कमाल के फायदें बताने जा रहे हैं। इन फ़ायदों को जा आप भी सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि सिंगल लाइफ कितनी मस्त होती है।

सिंगल लाइफ के फायदें

1. सिंगल लाइफ में आपके पास समय की काफी बचत होती है। इस खाली समय को आप अपने हिसाब से इन्जॉय कर सकते हैं। इसमें आपको अपना कीमती समय पार्टनर के नखरें झेलने में, उसके रूठने मनाने में, फोन पर घंटों बातचीत करने में, उसके साथ बाहर घूमने फिरने में बर्बाद नहीं करना पड़ता है। पढ़ाई या जॉब के बाद आपको जो भी खाली टाइम मिलता है उसमें आप अपनी पसंद की चीज कर पाते हैं।

2. सिंगल होने पर आप अपनी लाइफ अपने अंदाज और तौर तरीकों से जीते हैं। आपको दूसरों के स्टैंडर्ड और बंदिशों का ख्याल नहीं रखना पड़ता है। ऐसे कपड़े पहनों, ऐसी हेयर स्टाइल रखो, ये आदत छोड़ दो, वो आदात अपना लो, ऐसे ऑर्डर सिंगल लाइफ में सुनने को नहीं मिलते हैं।

3. सिंगल लोगों के पास जिम्मेदारियां कम होती है। रिलेशनशिप में होने पर आप कई जिम्मेदारियों में बंध जाते हैं। ये जिम्मेदारियां उन्हें तनाव में रखती है। वहीं सिंगल लोग बिना जिम्मेदारियों के ज्यादा टेंशन फ्री और खुश रहते हैं।

4. सिंगल लोगों के पैसे भी बहुत बचते हैं। उन्हें कोई खास खर्चा नहीं उठाना पड़ता है। वहीं रिलेशनशिप में आ जाने के बाद खर्चों की बाढ़ सी आ जाती है। कई बार ये खर्चे इतने होते हैं कि आपकी सेविंग तक नहीं होती है। वहीं सिंगल लाइफ में आप अच्छी खासी सेविंग्स कर वह पैसा फ्यूचर में इस्तेमाल कर सकते हैं।

5. सिंगल लाइफ में इंसान आत्मनिर्भर होना सीखता है। अकेले सभी चीजों को कैसे हैंडल करना है वह अच्छे से समझ जाता है। वहीं रिलेशनशिप में हम काफी हद तक कई चीजों के लिए पार्टनर पर निर्भर हो जाते हैं।

6. सिंगल लाइफ में आप अपने करियर पर अधिक फोकस कर पाते हैं। सफलता की सीढ़ी चढ़ना आसान हो जाता है। वहीं रिलेशनशिप में करियर के साथ साथ परिवार को भी प्राथमिकता देनी पड़ती है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.